चन्नी का रिश्तेदार मलिकपुर माइन में पार्टनर : खैहरा

अवैध माइनिंग के मामले में सुखपाल सिंह खैहरा ने चरणजीत सिंह चन्नी का नाम एक बार फिर से घसीटते हुए आरोप लगाया कि उनके सगे सांढू का बेटा भूपिंद्र सिंह उर्फ हनी सरकार द्वारा आबंटित मलिकपुर माइन में पार्टनर है। उन 6 खदानों में से यह माइन  एक है जिन पर अवैध माइनिंग को लेकर मुख्यमंत्री अमरेंद्र सिंह के निर्देशों के बाद कार्रवाई हुई है।

अपने सरकारी निवास पर पत्रकारों को सोमवार को  संबोधित करते हुए खैहरा ने कहा कि उक्त माइन पंजाब रियल्टर्ज नामक जिस फर्म को आबंटित हुई है उसमें कुदरतदीप सिंह व भूपिंद्र सिंह उर्फ हनी बिजनैस पार्टनर हैं तथा भूपिंद्र सिंह तकनीकी शिक्षा मंत्री चन्नी के सांढू का बेटा है इसलिए यह जरूरी हो जाता है कि इस खदान को हासिल करने में किए गए निवेश के स्रोत की जांच हो। उन्होंने कहा कि  राणा गुरजीत सिंह के मामले में भी जब खदान हासिल करने के स्त्रोत की परतें खुलीं तो राणा गुरजीत सिंह को मंत्री पद से हाथ धोना पड़ा। खैहरा ने मुख्यमंत्री कै. अमरेंद्र सिंह से मांग की कि उक्त खदान के आबंटन में लगे धन के स्त्रोत की जांच के लिए आयोग का गठन किया जाए। जस्टिस नारंग को ही बेशक यह जिम्मेदारी राणा गुरजीत सिंह मामले की जांच कर चुके  दे दी जाए ताकि राणा गुरजीत सिंह को क्लीन चिट देकर की जा चुकी गलती को वह सुधार सकें।