कॉन्ट्रैक्ट वर्कर्ज यूनियन ने सरकार विरोधी नीतियों के खिलाफ की हड़ताल, पनबस को नहीं चलने देंगे

Ludhiana Highlights | राज्य सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों के खिलाफ पंजाब रोडवेज/पनबस कॉन्ट्रैक्ट वर्कर्ज यूनियन ने & दिवसीय हड़ताल करके पंजाब भर की बसों का चक्का जाम करने की चेतावनी दी थी, जिसके चलते आज यूनियन ने बस स्टैंड परिसर में सरकार विरोधी नारेबाजी करते हुए रोष रैली निकाली। इसमें रोडवेज कर्मी भी कॉन्टै्रक्ट वर्कर यूनियन के समर्थन में आए। यूनियन की सैंट्रल बॉडी द्वारा कोई सूचना न मिलने से बस स्टैंड को बंद नहीं किया गया बल्कि बस स्टैंड पर आवागमन पहले जैसा ही था। इस हड़ताल से जहां सरकार को घाटा सहना पड़ रहा है वहीं यात्रियों को भी सरकारों

July 17, 2018

“मेयर ने बुलाई निगम अफसरों की मीटिंग; बरसात से परेशान लोगो कि लिए जारी किए नंबर “

Ludhiana Highlights | हम आपके लिए और आपके साथ हैं, कृपया हमारे साथ सहयोग दें |मेयर बलकार सिंह संधू ने लुधियाना नगर निगम से पूछा है अधिकारियों को यह विश्वास दिलाने के लिए चल रहे बरसात के मौसम के दौरान निवासियों को किसी भी समस्या का सामना नहीं करना पड़ता है। आज आयोजित की एक बैठक के दौरान मेयर संधू ने कहा लुधियाना एमसी लुधियाना शहर के निवासियों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है और उन्हें बरसात के मौसम के दौरान किसी तरह का दुःख नहीं झेलने देगा। उन्होंने यह भी कहा कि किसी भी समस्या के मामले में, जनता निम्नलिखित

July 17, 2018

जालंधर, अमृतसर व पटियाला में चुनाव; लुधियाना को करना पड़ेगा इंतज़ार

Ludhiana Highlights | पंजाब सरकार ने आज नगर निगम चुनाव की नोटिफिकेशन जारी कर दी है । जालंधर, अमृतसर व पटियाला में चुनाव 12 दिसंबर से 15 दिसंबर के बीच होंगे लेकिन लुधियाना को अभी चुनावो के लिए इंतज़ार करना पड़ेगा । नई वार्डबंदी के लिए करवाए गए सर्वे बाकी शहरों में पहले ही पूरे हो गए थे लेकिन लुधियाना में वार्डबंदी भी अभी पूरी नहीं हो पाई, इसी कारण लुधियाना के चुनाव देरी से ही होंगे । तय समय अवधि के मुताबिक पहले ही देरी से चल रहे इन चुनावो में और देरी ने लोगो की जुबान पर कई तरह के सवाल पैदा कर दिए है ।

ludhiana corporationकांग्रेस पार्टी के कुछ नेताओं ने नाम न प्रकाशित करने की शर्त पे बताया के कांग्रेस हाई कमांड को डर सता रहा है के अगर वह महानगर लुधियाना में हार गए तो पूरे पंजाब में पार्टी की गिरती साख को कोई नहीं बचा पायेगा इसलिए वह पहले लुधियाना में विधायकों ने माध्यम से विकास कार्य करवा कर उसके बाद निगम चुनाव करवाना चाहते है । लेकिन अगर माहिरों की माने तो निगम चुनाव जितने देरी से होंगे सरकार को उतना ही नुकसान होगा क्युंकि कांग्रेस पार्टी ने बड़े बड़े वायदे करके पंजाब में सरकार बनाई है जिन्हे पूरा करना नामुमकिन तो नहीं लेकिन मुश्किल जरूर है और उन्हें पूरा करने के लिए समय चाहिए ।

अगर कांग्रेस पार्टी विधान सभा चुनाव के नतीजों के बाद तुरंत निगम चुनाव करवा देती तो आज पंजाब की सभी निगमों पर कांग्रेस का परचम फहरा रहा होता लेकिन अब लोग कांग्रेस के वादों से परेशान हो चुके है जिसका नुकसान यक़ीनन कांग्रेस को भुगतना पड़ सकता है ।