भाजपा ने महबूबा मुफ्ती से तोड़ा गठबंधन, भाजपा ने की राज्य में राज्यपाल शासन की मांग

Ludhiana Highlights | भाजपा ने आज जम्मू-कश्मीर की महबूबा मुफ्ती सरकार से रिश्ता तोड़ लिया है। साथ ही भाजपा ने राज्य में राज्यपाल शासन की मांग की है। भाजपा का कहना है कि राज्य की स्थिति लगातार बिगड़ रही है और महबूबा ठोस कदम नहीं उठा रही, हालांकि केंद्र ने राज्य सरकार को पूरी मदद दी। भाजपा ने सीमा पार से आतंकी गतिविधियों, पाकिस्तानी सैनिका की फायरिंग और विपक्ष के तीखे हमलों के मद्देनजर पीडीपी से अलग होने का बड़ा फसाला लिया। महबूबा मुफ्ती ने अपना इस्तीफा राज्यपाल को सौंप दिया है। इससे पहले भाजपा के मंत्रियों ने अपना इस्तीफा मुफ्ती

June 19, 2018

अब शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों की खैर नहीं,कैप्टन सरकार लगाएगी इतना जुर्माना

केंद्र सरकार गंभीरता से सड़क हादसों में देश भर में  हो रहे इजाफे को रोकने के लिए  कदम आगे बढ़ा रही है। संशोधित मोटर व्हीकल एक्ट जल्द ही देश भर में  लागू हो जाएगा। जहां वाहन चालकों को नए मोटर व्हीकल एक्ट के तहत 100 फीसदी ई-चालान भुगतने की सहूलियत दी जाएगी, वहीं अब ट्रैफिक पुलिस का शिकंजा ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वालों पर  और कसेगा। सबसे ज्यादा गाज  शराब पीकर वाहन चलाने वालों पर गिरने जा रही है। अब 25,000 रुपए जुर्माना शराब पीकर वाहन चलाने वाले को  अदा करना होगा। यही नहीं वाहन चालक का ड्राइविंग लाइसैंस 3 बार जुर्माना होने पर  देश भर में रद्द कर दिया जाएगा और अपना ड्राइविंग लाइसैंस वह दोबारा  नहीं बनवा पाएगा।

हर साल तकरीबन 5 लाख  देश भर में सड़क हादसे होते हैं। हर साल तकरीबन 1.5 लाख लोगों की इन सड़क हादसों में मौत हो जाती है और इससे दो गुणा लोग गंभीर रूप से घायल या जिंदगी भर के लिए अपाहिज हो जाते हैं। इन आंकड़ों को पेश करते हुए  मिनिस्ट्री ऑफ रोड ट्रांसपोर्ट एंड रोडवेज ने यह जरूरत दर्शाई थी कि मोटर व्हीकल एक्ट 1988 में कुछ संशोधन की जरूरत है। 1988 में  मोटर व्हीकल एक्ट 223 सैक्शन थे और 68 सैक्शन रिप्लेस करने की जरूरत बताई गई थी। ग्रुप ऑफ ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर (जी.ओ.एम.) ऑफ स्टेट का गठन  मिनिस्ट्री ऑफ रोड ट्रांसपोर्ट एंड रोडवेज द्वारा गंभीरता दिखाने के बाद किया गया था जिसमें सभी राज्यों के ट्रांसपोर्ट मंत्रियों को शामिल कर उनके सुझाव लिए गए थे। नया मोटर व्हीकल एक्ट इनकी सिफारिशों को आधार बनाकर 2016 व बाद में संशोधित 2017 लोकसभा में पेश किया गया था। यह बिल 2017 में लोकसभा में  पास हो गया था। जल्द ही देश भर में संशोधित मोटर व्हीकल एक्ट  अब राज्यसभा में इस बिल के  पास होने के बाद लागू हो जाएगा। नए मोटर व्हीकल एक्ट में जुर्माने की राशि को काफी बढ़ा दिया गया है।

आंकड़ों में यह निकल कर सामने आया था कि सबसे ज्यादा सड़क हादसे  शराब पीकर वाहन चलाने के कारण होते हैं। अब नए एक्ट के तहत  इसको मद्देनजर रखते हुए शराब पीकर वाहन चलाते अगर कोई पकड़ा गया तो उसे 25,000 रुपए जुर्माना होगा। इसके अलावा 10,000 रुपए जुर्माना बिना इंश्योरैंस गाड़ी चलाने पर भुगतना होगा जबकि बिना ड्राइविंग लाइसैंस वाहन चलाने पर 10,000 जुर्माने के साथ वाहन को जब्त भी किया जाएगा। 5,000 रुपए जुर्माना अन्य पेपर पूरे न होने पर  और वाहन जब्त करने का प्रावधान होगा