कॉन्ट्रैक्ट वर्कर्ज यूनियन ने सरकार विरोधी नीतियों के खिलाफ की हड़ताल, पनबस को नहीं चलने देंगे

Ludhiana Highlights | राज्य सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों के खिलाफ पंजाब रोडवेज/पनबस कॉन्ट्रैक्ट वर्कर्ज यूनियन ने & दिवसीय हड़ताल करके पंजाब भर की बसों का चक्का जाम करने की चेतावनी दी थी, जिसके चलते आज यूनियन ने बस स्टैंड परिसर में सरकार विरोधी नारेबाजी करते हुए रोष रैली निकाली। इसमें रोडवेज कर्मी भी कॉन्टै्रक्ट वर्कर यूनियन के समर्थन में आए। यूनियन की सैंट्रल बॉडी द्वारा कोई सूचना न मिलने से बस स्टैंड को बंद नहीं किया गया बल्कि बस स्टैंड पर आवागमन पहले जैसा ही था। इस हड़ताल से जहां सरकार को घाटा सहना पड़ रहा है वहीं यात्रियों को भी सरकारों

July 17, 2018

“मेयर ने बुलाई निगम अफसरों की मीटिंग; बरसात से परेशान लोगो कि लिए जारी किए नंबर “

Ludhiana Highlights | हम आपके लिए और आपके साथ हैं, कृपया हमारे साथ सहयोग दें |मेयर बलकार सिंह संधू ने लुधियाना नगर निगम से पूछा है अधिकारियों को यह विश्वास दिलाने के लिए चल रहे बरसात के मौसम के दौरान निवासियों को किसी भी समस्या का सामना नहीं करना पड़ता है। आज आयोजित की एक बैठक के दौरान मेयर संधू ने कहा लुधियाना एमसी लुधियाना शहर के निवासियों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है और उन्हें बरसात के मौसम के दौरान किसी तरह का दुःख नहीं झेलने देगा। उन्होंने यह भी कहा कि किसी भी समस्या के मामले में, जनता निम्नलिखित

July 17, 2018

हिमाचल प्रदेश चुनाव; 74.25 % पोलिंग; कांग्रेस के लिए खतरे की घंटी

Ludhiana Highlights | हिमाचल प्रदेश की 68 विधान सभा सीटों के लिए 74.25 % पोलिंग हुई । इतनी सर्दी के बावजूद हिमाचलियों ने मतदान में पूरी गर्मी दिखाई । सुबह 8 बजे शुरू हुई पोलिंग शाम 5 बजे तक चली । प्रदेश में पहली बार VVPAT मशीनो का इस्तेमाल किया गया । कही भी हिंसा या अप्रिय घटना की कोई सूचना नहीं मिली ।

himachal polling 2017माहिरों के अनुसार प्रदेश में इतनी रिकॉर्ड तोड़ वोटिंग हिमाचल में मौजूदा कांग्रेस सरकार के लिए खतरे की घंटी है क्यूंकि लोग मौजूदा सरकार की कार्यशैली से निराश होकर ही इतने रिकॉर्डतोड़ मतदान का हिस्सा बनते है । माहिरों की माने हिमाचल में वैसे भी लोग हर बार बदल देखना चाहते है और इस चीज का इतिहास गवाह है ।

himachal polling 2017हिमाचल में हुई रिकॉर्डतोड़ वोटिंग कांग्रेस को फायदा देगी या कांग्रेस के लिए खतरे की घंटी है यह तो 18 दिसंबर को नतीजे आने के बाद साफ़ हो ही जायेगा लेकिन 40 दिन तक ई.वी.एम मशीनो में जिन 337 उमीदवारो की किस्मत बंद है उनकी नींद और चैन का तो भगवान ही रखवाला है