भाजपा ने महबूबा मुफ्ती से तोड़ा गठबंधन, भाजपा ने की राज्य में राज्यपाल शासन की मांग

Ludhiana Highlights | भाजपा ने आज जम्मू-कश्मीर की महबूबा मुफ्ती सरकार से रिश्ता तोड़ लिया है। साथ ही भाजपा ने राज्य में राज्यपाल शासन की मांग की है। भाजपा का कहना है कि राज्य की स्थिति लगातार बिगड़ रही है और महबूबा ठोस कदम नहीं उठा रही, हालांकि केंद्र ने राज्य सरकार को पूरी मदद दी। भाजपा ने सीमा पार से आतंकी गतिविधियों, पाकिस्तानी सैनिका की फायरिंग और विपक्ष के तीखे हमलों के मद्देनजर पीडीपी से अलग होने का बड़ा फसाला लिया। महबूबा मुफ्ती ने अपना इस्तीफा राज्यपाल को सौंप दिया है। इससे पहले भाजपा के मंत्रियों ने अपना इस्तीफा मुफ्ती

June 19, 2018

अकाली दल ने कोर कमेटी मेंम्बर इकबाल सिंह सिधु को पार्टी से निकाला

यूथ अकाली दल की कोरकमेटी के साबका मेंम्बर और जिला तरनतारन से सम्बन्दिदत विशिथ नेता इकबाल सिंह सिधु को पार्टी विरोद करवाई करने के कारन पार्टी से निकाल दिया गया।

इस सबंधित जानकारी देते हुए अकाली दल के जिला प्रधान, प्रोफेसर विरसा सिंह वल्टोहा ने कहा कि विधान सभा हल्का खडूर साहिब के अकाली वरकर के ध्यान में लाया कि इकबाल सिंह सिधु पिछले कुछ दिनों से कांग्रेस पार्टी से मिल कर विधान सभा हल्का खंडूर साहिब पार्टी खिलाफ कार्यवाही कर रहा जिस से शिरोमणि अकाली दल पार्टी कमजोर की जा सके। इस बात को गौर से सुनते हुए सुखबीर सिंह बादल ने कार्यवाही करने कि हिदायत दी कि आगे से पार्टी के जज्बे को क़ायम रखा जे सके। सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि खंडूर साहिब हलके के जथेदार रणजीत सिंह ब्रमपुरा जी ने काफी समय से नुमाईंदगी की है और आज भी यह जिमेवारी उन्ही के पास है। उन्हों ने यह भी बताया कि जथेदार रणजीत सिंह ब्रह्मपुरा पार्टी की विशिथ और माननीय नेता है।