Chandigarh से आ रही 2 ट्रकों में अवैध शराब को लुधियाना के शेरपुर चौक से किया जब्त

Ludhiana Highlights | आबकारी एवं कराधान विभाग के एक्साइज विंग कि डिस्ट्रिक्ट 3 की टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर चंडीगढ़ से आ रही अवैध शराब, लुधियाना के शेरपुर चौक में देर रात 12 बजे शराब के 2 ट्रक पकडऩे में सफलता हासिल की। विभागीय सूत्रों के अनुसार उक्त दोनों ट्रकों में 640 अंग्रेजी शराब की पेटियां थीं, जिसपर सेल ओनली फॉर  चंडीगढ़ व हरियाणा का हॉल मार्का लगा हुआ था, जिसमे क्रेजी रोमियो, मैकडावल, नैना व ट्रिप्पल नाइन (999) ब्रांड भारी मात्रा में मिले, जबकि ट्रक ड्राइवर मौके से फरार हो गया। अवैध शराब की रिकवरी कर, नार्कोटिक्स डिपार्टमैंट

December 10, 2018

भारतीय बैंकों को लगा एक और बड़ा झटका, 6500 करोड़ रुपए लेकर भागा रीड एंड टेलर, हिली सरकार

बराक ओबामा- अमिताभ बच्चन से लेकर जिस ब्रांड के कपड़े पहनते थे, अब दिवालिया होने की कगार पर वह कंपनी रीड एंड टेलर  पहुंच गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार रीड एंड टेलर और एस कुमार्स के मालिक  6500 हजार करोड़ से भी अधिक का लोन डिफाल्ट करने के बाद डिफाल्टरों की काली सूची में आ गए हैं। उनका पासपोर्ट  विजय माल्या और नीरव मोदी की तरह विदेश भागने की आशंका में भी जब्त कर लिया गया है।

now fitness gym ludhiana

रिपोर्ट्स के अनुसार नितिन कासलीवाल रीड एंड टेलर और एस कुमार्स के मालिक पर 6,500 करोड़ का लोन है। यह लोन अब वे चुकाने की स्थिति में नहीं है। जानबूझकर पैसा नहीं चुकाने वालों की लिस्ट में कासलीवाल को  शामिल कर लिया गया है। जबकि कासलीवाल ने कोर्ट का रुख करके दिवालिया घोषित करने की प्रक्रिया शुरू की है।

इन बैंकों का सबसे ज्यादा पैसा फंसा
नितिन कासलीवाल पर भी विजय माल्या और नीरव मोदी की तरह  6,500 करोड़ से भी अधिक का लोन बाकी है। जिन बैंकों से  कासलीवाल ने ज्यादा लोन लिया था उनमें SBI, PNB, IDBI, कारपोरेशन बैंक, केनरा बैंक जैसी राष्ट्रीयकृत बैंक शामिल हैं। इसके अलावा यूनियन बैंक, सेन्ट्रल बैंक, जम्मू एंड कश्मीर बैंक और इंडियन बैंक से भी कर्ज ले रखा है। इन बैंकों में कासलीवाल ने निजी गारंटी पर अपनी कंपनियों, एसकेएनएल, RTIL और BHRL के लिए लोन ले रखे हैं। पिछले साल ही एस कुमार्स ग्रुप के मुखिया नितिन कासलीवाल का पासपोर्ट भी  जमा करवा लिया गया था। जिन बैंकों से  नितिन ने लगभग 6,500 रुपए का कर्ज लिया था उन्हें डर था कि वो कहीं विजय माल्या जैसे विदेश न भाग जाएं, इसलिए कर्नाटक हाईकोर्ट ने उनका पासपोर्ट जब्त करवा लिया गया था। इसके बाद शंभू कुमार कासलीवाल की पासपोर्ट रिलीज करने की अर्जी भी कोर्ट ने खारिज कर दी थी।



105 Shares