भाजपा ने महबूबा मुफ्ती से तोड़ा गठबंधन, भाजपा ने की राज्य में राज्यपाल शासन की मांग

Ludhiana Highlights | भाजपा ने आज जम्मू-कश्मीर की महबूबा मुफ्ती सरकार से रिश्ता तोड़ लिया है। साथ ही भाजपा ने राज्य में राज्यपाल शासन की मांग की है। भाजपा का कहना है कि राज्य की स्थिति लगातार बिगड़ रही है और महबूबा ठोस कदम नहीं उठा रही, हालांकि केंद्र ने राज्य सरकार को पूरी मदद दी। भाजपा ने सीमा पार से आतंकी गतिविधियों, पाकिस्तानी सैनिका की फायरिंग और विपक्ष के तीखे हमलों के मद्देनजर पीडीपी से अलग होने का बड़ा फसाला लिया। महबूबा मुफ्ती ने अपना इस्तीफा राज्यपाल को सौंप दिया है। इससे पहले भाजपा के मंत्रियों ने अपना इस्तीफा मुफ्ती

June 19, 2018

SBI का ग्राहकों को बड़ा तोहफा, मिन‍िमम बैलेंस चार्ज 75% तक घटा

अपने ग्राहकों को SBI ने एक बड़ा तोहफा दिया है। बैंक ने अकाउंट में न्यूनतम बैलेंस नहीं रखने की स्थिति में ली जाने वाली पेनाल्टी की राशि में 75 फीसदी तक की कटौती कर दी है। किसी भी कस्टमर को ऐसे में अब 15 रुपए से ज्यादा पेनल्टी नहीं देनी पड़ेगी। अभी तक यह अधिकतम 50 रुपए था। एक अप्रैल से बैंक कस्टमर को घटी हुई पेनल्टी का फायदा  मिलेगा। SBI. के इस फैसले से बैंक के करीब 25 करोड़ उपभोक्ताओं को फायदा होगा।

किसे कितनी राहत?
न्यूनतम बैलेंस  मेट्रो और शहरी इलाकों में नहीं रखने पर चार्ज 50 रुपए से घटाकर 15 रुपए कर दिया गया है। छोटे शहरों में चार्ज को 40 रुपए से घटाकर 12 रुपए कर दिया गया है। इसी तरह ग्रामीण इलाकों में न्यूनतम बैलेंस नहीं रखने पर अब 40 रुपए के बदले 10 रुपए ही चार्ज लगेगा। इन चार्ज में जी.एस.टी. अलग से लगेगा।

मेट्रो और शहरी  ब्रांच में (मासिक औसत बैंलेंस 3000 रु) नई पेनल्टी मौजूदा पेनल्टी
50% तक बैलेंस कम होने पर 10 रु 30 रु
50% से ज्यादा और 75% तक बैलेंस कम होने पर 12 रु 40 रु
75% से ज्यादा बैलेंस कम होने पर 15 रु 50 रु
अर्द्ध शहरी  ब्रांच में (मासिक औसत बैंलेंस 2000 रु)
50% तक बैलेंस कम होने पर 7.50 रु 20 रु
50% से ज्यादा और 75% तक बैलेंस कम होने पर 10 रु 30 रु
75% से ज्यादा बैलेंस कम होने पर 12 रु 40 रु
ग्रामीण ब्रांच में (मासिक औसत बैंलेंस 1000 रु)
50% तक बैलेंस कम होने पर 5 रु 20 रु
50% से ज्यादा और 75% तक बैलेंस कम होने पर 7.5 रु 30 रु
50% से ज्यादा और 75% तक बैलेंस कम होने पर 10 रु 40 रु

 

बचत खाते में कितनी रकम रखना जरूरी? 
आपको 3,000 रुपए का ऐवरेज बैलेंस अगर आपका बचत खाता महानगर के किसी शाखा में है तो  मेंटेन करना होगा, जो सितंबर 2017 से पहले 5,000 रुपए था। अभी शहरी इलाके की शाखाओं वाले बचत खातों में भी 3,000 रुपए का ऐवरेज बैलेंस रखना होगा जबकि कस्बाई या ग्रामीण इलाके के खातों के लिए यह रकम क्रमशः 2,000 रुपए और 1,000 रुपए तय है।

क्यों उठाया यह कदम?
बैंक के रिटेल और डिजिटल बैंकिंग के एमडी पीके गुप्ता ने कहा कि हमने ये कदम हमारे ग्राहकों की भावना और उनके फीडबैक को लेने के बाद उठाया है। उनके मुताबिक बैंक अपने ग्राहकों के हितों का ध्यान पहले रखता है।