भाजपा ने महबूबा मुफ्ती से तोड़ा गठबंधन, भाजपा ने की राज्य में राज्यपाल शासन की मांग

Ludhiana Highlights | भाजपा ने आज जम्मू-कश्मीर की महबूबा मुफ्ती सरकार से रिश्ता तोड़ लिया है। साथ ही भाजपा ने राज्य में राज्यपाल शासन की मांग की है। भाजपा का कहना है कि राज्य की स्थिति लगातार बिगड़ रही है और महबूबा ठोस कदम नहीं उठा रही, हालांकि केंद्र ने राज्य सरकार को पूरी मदद दी। भाजपा ने सीमा पार से आतंकी गतिविधियों, पाकिस्तानी सैनिका की फायरिंग और विपक्ष के तीखे हमलों के मद्देनजर पीडीपी से अलग होने का बड़ा फसाला लिया। महबूबा मुफ्ती ने अपना इस्तीफा राज्यपाल को सौंप दिया है। इससे पहले भाजपा के मंत्रियों ने अपना इस्तीफा मुफ्ती

June 19, 2018

‘रिश्तेदार मुलाजिमों ’ को बाहर का रास्ता दिखाने की तैयारी में शिरोमणी समिति

आपसी खींचातानी को दूर करने के लिए  शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति हाल ही में लिए फैसले अनुसार 523 मुलाजिमों की छंटनी के बाद अब एक ओर सूची तैयार कर रही है  जिसमें रिश्तेदार को एक और कर  मुलाजिमों की बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा।

now fitness gym ludhiana

नियमों को ताक में रख समिति के बीते कार्यकाल दौरान  भर्ती किए गए 523 मुलाजिमों की छंटनी संबंधित लिए गए अब अगली सूची अंत्रिग समिति के फैसले के बाद  तैयार की गई है, जिसमें सैंकड़े ऐसे मुलाजिम शामिल हैं जिनका कोई न कोई सगा संबंधी पहले ही शिरोमणि समिति में तैनात है। तख्तों के जत्थेदार साहिबान के दर्जनों के हिसाब के इस सूची में साथ शिरोमणि समिति में काम करते रिश्तेदार या पारिवारिक मैंबर, हैडग्रंथी साहिबान, मैनेजरों या  समिति सदस्यों के पारिवारिक मैंबर में से गई तरक्कियों वाले सैंकड़े मुलाजिमों के नाम शामिल हैं।

 

शिरोमणि समिति के सीनियर उप प्रधान रघूजीत सिंह विर्क के साथ इस संबंधित जब संपर्क किया गया तो उन्होंने एक ओर सूची तैयार करवाए जाने की पुष्टि की परन्तु सूची जारी होने की तारीख और शामिल मुलाजिमों के नाम बताने से न कर दी। इस रिपोर्ट बारे जब शिरोमणि समिति प्रधान भाई गोबिन्द सिंह लोंगोवाल का पक्ष जानने की  कोशिश की गई  तो उन्होंने कहा कि उन्होंने अंत्रिग समिति की मंजूरी के साथ रघूजीत सिंह विर्क के नेतृत्व में समिति का गठन  रिपोर्ट तैयार करने के लिए कर दिया था  जिसकी रिपोर्ट आ गई है। जब सीनियर उप  प्रधान रघूजीत सिंह विर्क के साथ संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि शिरोमणि समिति सम्बन्धित कोई भी अंतिम फैसला लेने का अधिकार अंत्रिग समिति के पास है। जैसे ही अंत्रिंग समिति की मीटिंग की कार्रवाई जारी होगी, उसके बाद नई सूची पर अमल शुरू हो जाएगा। श्री विरक ने यह भी पुष्टि की कि 523 मुलाजिमों की छंटनी जरूर की जा रही है परन्तु पद खत्म नहीं किए जा रहे। फिर से इश्तिहार देकर इसलिए जरूरत अनुसार  नियमों अनुसार भर्ती की जाएगी।