April 27, 2018
Ludhiana

सुविधा कर्मचारियों ने मांगों को लेकर डीसी को दिया मांग पत्र

Ludhiana Highlights | सुविधा कर्मचारियों ने अपनी  छीनी गई नौकरी वापिस लेने और सेवाओं को रेगुलर करवाने के लिए पिछले 14 महीनों से शुरू किए संघर्ष को तेज करना शुरू कर दिया है।

उन्होंने अपने  संघर्ष के समक्ष पंजाब के डिप्टी कमिश्नर को मांग पत्र दिया और पंजाब सरकार से मांग की है कि उनको पहले की तरह ही सुखमनी सेवा सोसायटी के अधीन नौकरी पर रखा जाए और उनकी सेवाओं को रेगुलर किया जाए। लुधियाना में भी प्रदेश महामंत्री वरिंदर सिंह लेखी और संजीव कुमार की अगुवाई में डीसी प्रदीप अग्रवाल को मांग पत्र दिया गया। इस संबंधी दोनों नेताओं ने पंजाब की भूतपूर्व अकाली-भाजपा सरकार से रोष प्रकट करते हुए कहा कि सरकार के नेताओं ने पंजाब भर में अच्छे भले चलते सुविधा केंद्रों को बंद करवा कर उनके स्थान पर 500 करोड़ खर्च कर सेवा केंद्र खोल दिए है। सुविधा केंद्र तो करीब डेढ़ दहाके से लोगों को एक ही छत के नीचे विभिन्न विभिन्न प्रकार की सुविधाएं दे रहे थे लेकिन भ्रष्टाचार से निकले सेवा केंद्र लोगों की सेवा नहीं कर पाए। इनका गैर तजुर्बेकार स्टाफ लोगों को सिर दर्द देने के सिवाय कुछ नहीं दे पाया। नेताओं ने डीसी को मांग पत्र देते हुए कहा के भूतपूर्व सरकार की कच्चे मुलायम विरोधी नीति ने सुविधा सेंट्रो में अच्छे पढ़े-लिखे 1100 मुलाजिमों को बेरोजगार कर दिया जो 14 महीनों से तनख्वाह न मिलने के कारण आर्थिक तौर से पूरी तरह टूट चुके हैं और इनके घर के चूल्हें ठंडे पड़ चुके हैं। नेताओं ने पंजाब सरकार से मांग की है कि उनको दुबारा सुखमणि सेवा सोसायटी में में रोजगार देकर जल्द ही सेवाएं रेगुलर की जाएं। उन्होंने कहा कि अगर सरकार उनकी मांग को स्वीकृत करती है तो सुविधा सेंट्रो के तजुर्बेकार कर्मचारी लोगों को दोबारा एक ही छत के नीचे सारी सुविधाएं देनी शुरू कर देंगे। इस मौके पर शरणजीत सिंह, जरनैल सिंह, राजेश कुमार, प्रेम सिंह, दिनेश कुमार, गुरिंदर कौर महदूदा मीडिया प्रभारी, रवी कुमार व अन्य उपस्थित थे।



Related Posts